1. हिन्दी समाचार
  2. अयोध्या
  3. अयोध्या में जिला पंचायत की बोर्ड बैठक हुई संपन्न

अयोध्या में जिला पंचायत की बोर्ड बैठक हुई संपन्न

अयोध्या में अटल बिहारी वाजपेयी सभागार में आज बोर्ड की बैठक जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रोली सिंह के द्वारा की गई. इस बैठक में तमाम मुद्दो पर चर्चा की गई.

By: Desk Team  RNI News Network
Updated:
gnews
अयोध्या में जिला पंचायत की बोर्ड बैठक हुई संपन्न

अयोध्या में अटल बिहारी वाजपेयी सभागार में आज बोर्ड की बैठक जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रोली सिंह के द्वारा की गई. जिसमें गत कार्यवाहियों की पुष्टि के साथ पंचम और 15वें वित्त आयोग के अर्न्तगत वर्ष 2022-23 के कार्यों की प्रगति समीक्षा की गई. इसके साथ ही वर्ष 2023-24 की संशोधित कार्य योजना को अनुमोदित किया गया। आगामी साल 2024-25 की प्राप्त होने वाली धनराशि के सापेक्ष कार्य प्रस्ताव भी सभी सदस्यों से मांगे गए हैं।

सदन में रामचन्द्र यादव विधायक रूदौली और अभय सिंह, विधायक गोशाईगंज उपस्थित रहे। वहीं अध्यक्ष के अनुमति के साथ अपर मुख्य अधिकारी द्वारा कार्यवाही का संचालन आरम्भ किया गया, जिसमें एजेंडा के प्रथम बिन्दु पर गत कार्यवाहियों पर विमर्श के साथ सर्वसम्मति से पुष्टि की गई। सदन के पटल पर अपर मुख्य अधिकारी द्वारा कार्यो की प्रगति समीक्षा से अवगत कराया गया। इसके साथ कार्ययोजना में मा. सदस्यों के कार्य प्रस्तावों के सापेक्ष संशोधन से भी अवगत कराया गया।

इसी क्रम में कार्ययोजना को सदन द्वारा अनुमोदित किया गया। सदन द्वारा गत बैठक में प्रस्तुत जिला पंचायत की खनन परिवहन उपविधि एवं मानचित्र पारण उपविधि की दरों में संशोधन को अनुमोदित किया गया। इसके साथ ईंट भट्ठा संचालक उपविधि में संशोधन के सापेक्ष प्राप्त आपत्तियों का निस्तारण करते हुए विलम्ब शुल्क प्रथम माह 500 /- रूपये और पश्चात माह में विलम्ब होने पर 200 /- रूपये प्रति माह विलम्ब शुल्क को अनुमोदित किया गया। इसके पश्चात कारखाना उपविधि और पशु बाजार उपविधि में संशोधनों पर विचार किया गया। कारखानों के लाईसेन्स शुल्क अधिकतम 1 लाख रूपये तथा पशु बाजारों के लाइसेंस शुल्क के दरों को भी अधिकतम सीमा 1 लाख रूपये की स्वीकृति दी गई। साथ ही विभिन्न विभागों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा के पूर्व सदन द्वारा एक मत से अधिकारियों की अनुपस्थिति पर खेद व्यक्त किया गया।

 

विभिन्न विभागों से सम्बन्धित मा० सदस्य गणों के प्रश्नों का उपस्थित विभागीय अधिकारियों द्वारा गंभीरता से जवाब दिया गया और सभी मामलों में यथोचित कार्यवाही का आश्वासन भी दिया गया। इसके बाद सभी सदस्य गणों से पूर्ण सहयोग की अपेक्षा रखते हुए बैठक समाप्ति की घोषणा की गई।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें गूगल न्यूज़, फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...